वर्षा ऋतु पर निबंध – Varsha Ritu Par Nibandh in Hindi

Varsha Ritu Par Nibandh: वर्षा ऋतु का आगमन आमतौर पर जुलाई माह मे ठंडी हवाओ के साथ शुरु हो जाता है। वर्ष ऋतु का आगमन हम सब के लिए खुशियो का सौगात लेकर आता है। क्योकि वर्ष ऋतु के आने के बाद ही खेती और फसलो का काम शुरु हो जाता है तथा किसानो के लिए खुशी का माहौल लेकर आता है। वर्षा ऋतु आने के बाद मौसम मे बदलाव आ जाता है वर्षा ऋतु चार प्रमुख ऋतुओ मे से एक है। वर्षा ऋतु शुरु होने से पहले गर्मी का मौसम रहता है। जिसमे लोगो को बडी परेशानी का सामना करना पडता है जैसे गर्मी, लू, गर्म हवाये और तपती धूप आदि परंतु ग्रीष्म ऋतु जाने के बाद वर्षा ऋतु का आगमन हमारे लिए ढेर सारी खुशिया लेकर आता है। प्रकृति की सुंदरता मे भी निखार आ जाता है।

वर्षा ऋतु पर निबंध ( 100 से 200 शब्द)

बरसात का मौसम खुशियो की सौगात लेकर आता है। बरसात का मौसम जुलाई मे शुरु होता है। यह मौसम लोगो को गर्मी से निजात देकर ठंडी हवाओ के साथ लोगो के अंदर सकून महसूस करवाता है। वर्षा ऋतु से प्रकृति के स्वरूप मे भी बदलाव आ जाता है चारो तरफ हरियाली खूबसूरत नज़ारे और ठंड हवाओ व्यक्ति को मोह लेती है। वर्षा ऋतु से निर्जीव हुये पेड पौधो घास आदि मे नई उर्जा का संचार हो जाता है वर्षा ऋतु मे जीव, जंतु प्राणी आदि सभी राहत की सांस लेते है और प्रकृति मे हुये बदलाव का आनंद उठाते है।

See also  Essay on Tree in Hindi - पेड़ों के महत्व पर निबंध

वर्षा ऋतु का हमारे जीवन मे भी बहुत महत्व है क्योकि वर्षा ऋतु आने के बाद किसान अपने खेत खलिहान सम्बंधी काम, बीज आदि की बुवाई भी शुरु कर देते है। वर्षा ऋतु हमारे लिए बहुत खुशिया लेकर आता है। वर्षा ऋतु से ही कुछ महत्वपूर्ण त्यौहार भी शुरु हो जाते है जैसे सावन, रक्षाबंधन और तीज का विशेष पर्ब भी इसी महीने आता है। वर्षा ऋतु आने के साथ गर्मी से भी थोडा निजात मिलता है। और ठंड हवाओ का आनंद मिलना शुरु हो जाता है। बारिश के मौसम मे एक अलग ही अनुभूति होती है। जैसे अच्छे – अच्छे पकवान व पकौडो आदि इस मौसम को और भी खूबसूरत बनाते है।

Varsha Ritu Par Nibandh – वर्षा ऋतु पर निबंध (300 से 400 शब्द)

प्रस्तावना

वर्षा ऋतु का आगमन हमारे लिए एक विशेष दिन जैसे होता हैं। वर्षा ऋतु हमारे लिए एक नई उर्जा लेकर आता है लोगो को इस मौसम मे गर्मी से निजात मिलती है तथा राहत की सांस लेते है गर्मी और खेती के काम के कारण लोग बारिश के मौसम का इंतजार करते हैं। वर्षा ऋतु हमारे प्रकृति के लिए एक नया अनुभव लेकर आती है। हर मौसम शानदार होता है परंतु वर्षा का मौसम एक अलग ही आनंद लेकर आता है।

वर्षा ऋतु का आगमन

वर्षा ऋतु का आगमन जुलाई मास मे आता है लगभग चार महीनो तक यह ऋतु रहती है जब मानसून का आगमन होता है तभी वर्षा ऋतु का प्रारम्भ हो जाता है। यह ऋतु असहनीय गर्मी सहन करने के बाद एक नया जीवन लेकर आता है क्योकि इस मौसम मे लगभग सभी को गर्मी से निजात मिलने लगती है और लोग राहत की सांस लेना शुरु कर देते है। आकाश और प्रकृति का रंग भी सुनहरा और अनुपम हो जाता है जिसकी खूबसूरती हमारे मन को मोह लेती है।

See also  My Father Essay in Hindi - पिता पर निबंध

वर्षा ऋतु का प्रभाव

वर्षा ऋतु भी हमारे जीवन के लिए बहुत महत्व्पूर्ण है। यह ऋतु किसानो के खेती के लिहाज से बहुत जरूरी माना जाता है। वर्षा ऋतु मे जीव – जंतु, प्रकृति और पेड – पौधो मे भी जान आ जाती है। और खेती का काम भी शुरु हो जाता है। वर्षा ऋतु से हमारे गावो या शहरो आदि मे सूखे पडे नदी, नाले, पोखरे आदि मे पानी भर जाता है। जिससे जीव जंतु आदि को पानी सुगमता से मिल जाता है जिससे उनके जीवन मे एक नई उर्जा का संचार होता है।

वर्षा ऋतु की विशेषताएं

वर्षा ऋतु मे प्रकृति हरी – भरी हो जाती है। चारो तरह सुंदर नज़ारो लोगो के मन को आकर्षित करते है वर्षा ऋतु से खेतो मे पानी भी भर जाता है। तथा सूखे हुये पेड एवं पौधे भी पानी पाकर खिलाखिला उठते है। गर्म मौसम और गर्म हवाओ से भी निजात मिल जाती है।

वर्षा ऋतु का अनुभव

वर्षा ऋतु आते ही हमे हमारे पुराने दिन याद आने लगते है। जब हम बचपन मे स्कूल पढने जाते थे। और रास्ते मे बारिश होने लगती थी तब हमारे सारे कपडे , झोला आदि भीग जाते थे और हमे बहुत आनंद आता था। जब हम स्कूल नही जाना चाहते थे। और ईश्वर से विनती करते थे। कि बारिश आ जाये। बारिश शुरु होते ही हम अपने घर के बाहर या छतो पर भीगने के लिए चले जाते थे पिता जी और माता जी बहुत डांटते थे। कि मत भीगो बेटा सर्दी हो जायेगी। बचपन मे वो बिजली की कडक और वो तेज़ बारिश हमे बहुत डराती थी। क्या दिन थे वो आज भी वो पल याद आ जाते है।

वर्षा ऋतु मे ध्यान रखने योग्य बाते

वर्षा ऋतु मे हमे सावधान रहने की भी जरुरत होती है क्योकि इसी महीने से बहुत सारी संक्रामक बिमारियो का भी आगमन होता है। जो हमारे स्वास्थ के लिए घातक होती है इस मौसम मे पेट सम्बंधी, त्वचा, बुखार, जुखाम आदि संकामक बिमारी होने का डर रहता है। इसलिए इस मौसम मे खुद को , अपने परिवार और खास कर छोटे बच्चे के लिए ध्यान रखने की जरुरत है।

See also  कंप्यूटर पर हिन्दी मे निबंध - Essay on Computer in Hindi

उपसंहार

वर्षा ऋतु निह्संदेह एक शानदार समय होता है पृथ्वी पर जीवन जीने के लिए वर्षा का होना आवश्यक है। वर्षा के समय प्रकृति का रूप मनोहर हो जाता है। प्रकृति के द्वारा प्रदत्त फल और फूलो से वृक्ष भर जाते है। और चहु दिश मे वातावरण शुद्ध एवं मनोहर हो जाता है।

Disclaimer-: Hindimesoch.in ब्लॉग मे प्रकाशित किसी भी पोस्ट अथवा चित्र का अधिकारिक दावा नही करता है | अगर इस ब्लॉग मे पोस्ट से सम्बंधित किसी भी लेखन या वीडियो पर आपका कॉपीराइट दिखता है तो हमसे सम्पर्क करें | उक्त सामग्री को पूर्ण रूप से हटा दिया जायेगा | इस पोस्ट मे लिखी गई कोई भी जानकारी अमल मे लाने के लिये संबंधित विशेषज्ञ से सलाह जरूर लें.