Indian Festivals in Hindi: भारत के प्रमुख त्योहारों की सूची

हमारा भारत ही एकमात्र ऐसा देश है जहां प्रतिवर्ष कोई न कोई त्यौहार मनाया जाता है, भारत मे त्यौहारो का आगमन मतलब बहुत सारी खुशियों का आना है. पूरे भारतवर्ष के हर प्रदेश मे अलग – अलग विभिन्न प्रकार के त्यौहार मनाये जाते है. यहां पर त्यौहार के आने की उत्सुक्तता सभी लोगो मे रहती है, हमारे भारत वर्ष के त्यौहार की चमक पूरा संसार देखता है और इसकी सराहना भी करता है पूरे संसार के कोने – कोने से लोग यहा प्रतिवर्ष आते है और हमारे भारत वर्ष के संस्कृति का अनुशरण करते है|

आइये हम भारत मे होने वाले कुछ महत्वपूर्ण त्यौहारो (Indian Festivals in Hindi ) के बारे मे बताने की कोशिश करेंगे. यह पोस्ट हमारा भारत के प्रमुख त्यौहारों  से सम्बंधित ही रहने वाला है –

भारत के कुछ प्रमुख त्यौहार

होली

holi

होली रंगो का त्यौहार है ये हिंदुओ के प्रमुख त्यौहारो मे से एक है| यह त्यौहार  फाल्गुन की पूर्णिमा तिथि को मनाया जाता है | यह दो दिनो मे वर्गीकृत है पहले दिन होलिका दहन उसके बाद दूसरे दिन रंगो वाली होली खेली जाती है यह त्यौहार सामाजिक भाईचारा एवं प्रेम का प्रातीक है| होली 2025 मे 14 मार्च को मनाई जायेगी

दीपावली

diwali

दीपावली कार्तिक मास की अमावस्या तिथि को मनाई जाते है| यह त्यौहार मे धन वैभव की देवी माता लक्ष्मी को समर्पित है दीवाली प्रकाश पर्व है असत्य पर सत्य की जीत का प्रतीक है | ऐसी मान्यता है कि जब प्रभु राम 14 वर्ष का वनवास काट कर अयोध्या वापस आये थे तक खुशी मे अयोध्या वासियो ने दीप और पटाखे जलाकर प्रभु का स्वागत किया था | दिवाली 2024 मे 01 नवंबर, शुक्रवार को है.

दशहरा

dashhara

दशहरा बुराई पर अच्छाई की जीत का प्रतीक है इसे विजयादशमी भी कहा जाता है | यह त्योहार भी हिंदुओ का एक प्रमुख त्योहार है यह पर्व क्वार मास के दशमी तिथि को मानाया जाता है. इस दिन प्रभु मर्यादा पुर्षोत्तम श्रीराम ने रावण का वध करके लंका पर विजय हासिल की थी | विजयादशमी 2024 मे 12 अक्टूबर को मनाया जायेगा |

See also  Holi Kab Hai ?- होली 2025 कब है? इतिहास, महत्व, होली कब और कैसे मनाई जाती है ?

रक्षा बंधन

rakhi

भाई – बहन के प्यार का प्रतीक का ये एक बहुत ही पवित्र त्योहार है यह सावन मास की पूर्णिमा तिथि को मनाया जाता है | यह त्योहार सम्पूर्ण भारत मे बहुत ही हर्षौउल्लास के साथ मनाया जाता है इस दिन बहने अपने भाईयों को राखी बांधती है तथा भाई अपने बहन की रक्षा करने का वचन देता है | इतिहास के अनुसार रानी कर्णावती ने मुगल सम्राट हुमायूं को राखी भेजी थी तथा मदद की गुहार लगाई थी उसके बाद हुमायूं ने भी रानी की रक्षा करने का फैसला लिया था | रक्षा बंधन 2024, 19 अगस्त को है.

कृष्ण जन्माष्टमी

krishna janmashtami

हिंन्दू पौराणिक कथा के अनुसार इस दिन भगवान श्री कृष्ण जी का जन्म हुआ था. इस त्यौहार को कृष्णअष्टमी व गोकुला अष्टमी के नाम से भी जाना जाता है। कृष्ण जन्माष्टमी 2024 मे 26 अगस्त को है|

लोहड़ी

lohri

लोहड़ी उत्तर भारत के एक प्रमुख त्योहार है, यह मकर संक्रांति से एक दिन पूर्व मनाया जाता है | यह फसल पकने और अच्छी खेती के प्रतीक के रूप मे मनाया जाता है. यह पर्व पंजाब मे अधिक उत्त्साह के साथ मनाया जाता है.

ईद

Eid

इस्लामी कैलेंडर के अनुसार ये रमजान पाक माह के समाप्ति के बाद चांद के दिखने पर मनाया जाता है | मुख्य रूप से तो यह मुस्लिमो का त्योहार है परंतु आज के समय यह सभी धर्म जातियो के लोग मनाते है. ईद उल फितर पूरे दुनिया मे मनाया जाता है खुशी और भाईचारे को समर्पित है |

राम नवमी

ram navami

श्री रामनवमी का पर्व चैत्र मास के शुक्ल पक्ष की नवमी को मनाया जाता है | हिंन्दू धर्मशाष्त्रो के अनुसार इस दिन मर्यादा पुरुषोत्तम प्रभु श्रीराम जी का जन्म हुआ था | इस दिन को पूरे भारत मे प्रभु श्रीराम जी के जन्म दिवस के रूप मनाते है श्रीराम प्रभु का जन्म भारत वर्ष के अयोध्या (उ0प्र0) मे हुआ था इस दिन अयोध्या को दुल्हन की तरह सज़ाया जाता है | इन दिन यहा भक्तो का ताता लगता है लोग अयोध्या की 14 कोसी परिक्रमा भी करते है | यह दिन भगवान विष्णु के राम अवतार के रूप में अवतरण का भी जश्न मनाता है । रामनवमी 2025 मे 06th अप्रेल को है |

See also  मदर्स डे 2024 मे कब है? इतिहास और महत्व - Mother's Day 2024 in Hindi

गुरु नानक जयंती

gurunanak ji

गुरु नानक जयंती कार्तिक मास की पूर्णिमा तिथि को मनाई जाती है| इस दिन को गुरु नानक जी के जयंती के रूप मे मनाते है. श्री – गुरु नानक जयंती सिख धर्म में एक लोकप्रिय पवित्र त्योहार है । गुरु नानक जयंती 2024, 15 नवम्बर.

ओणम

onam

ओणम भारत के केरल राज्य का एक प्रमुख त्योहार है| ओणम त्योहार भगवान वामन की जयन्ती और राजा बलि के स्वागत में प्रति वर्ष आयोजित किया जाने वाला एक प्रमुख पर्व है यह त्योहार आमतौर पर प्रत्येक वर्ष अगस्त और सितंबर के महीने में आता है। ओणम केरल की परम्परा और संस्कृति को प्रदर्शित कारने का एक अनोखा उदाहरण है |

भाई दूज

bhaiyadooj

भाई दूज का पर्व अमावस्या के दूसरे दिन मनाया जाता है | इस दिन महिलायें अपने भाईयों के लम्बी उम्र के लिए ईश्वर से प्रार्थना करती है | भाई दूज को यम द्वितीया के नाम से भी जाना जाता है| 2024 मे भईया दूज 3 नवंबर को भैया दूज है।

बिहू

vihu

बिहू असम राज्य का एक प्रमुख त्योहार है | ये त्योहार असम के नववर्ष का प्रतीक भी माना जाता है. यह पर्व असम राज्य का परम्परिक पर्व है इसे बोहाग बिहू के नाम से भी जाना जाता है.

सरहुल

sarhul

सरहुल पूर्व – मध्य भारत के आदिवासी समुदाय के लोगो का एक प्रमुख पर्व है | मूलरूप से झारखंड मे इसका बहुत महत्व है, है, हर वर्ष चैत्र शुक्ल पक्ष तृतीया को सरहुल मनाया जाता है इस पर्व मे साल अर्थात सेखुवा वृक्ष का विशेष महत्व होता है |

शिगमो

shigmo

यह गोवा का प्रचलित पर्व है यह सांस्कृतिक वेशभूषा के साथ लोक नृत्य को परिभाषित करने वाला उत्सव है | यह त्योहार हर साल मार्च के महीने मे मनाया जाता है |

दुर्गापूजा

durga puja

मा दुर्गा को समर्पित यह पर्व पूरे भारत मे मनाया जाता है लेकिन इसका सुंदर आयोजन आपको पश्चिम बंगाल मे ज्यादा देखने को मिलेगा वहा पर इसकी ज्यादा मान्यता है शेष जगह पर इस पर्व को नवरात्री के रूप मे भी मनाते है | माता दुर्गा की काली रूप की पूजा अर्चना की जाती है |

See also  When is Hanuman Jayanti 2025? - हनुमान जयंती कब है? जानिए क्या है विशेष, पूजा - विधि

करवा चौथ

karwachauth

करवा चौथ का व्रत कार्तिक कृष्ण पक्ष की चतुर्थी को करने का विधान है | महिलायें इस दिन अपनी पति की लम्बी उम्र के लिए व्रत एवं उपवास रखती है | इस दिन महिलायें 16 श्रृगार से सुशोभित होकर अपने पति कि सलामती की दुआ के लिए व्रत करती है | करवा चौथ 2024 का व्रत 20 अक्टूबर दिन रविवार को रखा जाएगा।

छठ पूजा

chhath

छठ पूजा विहार मे मनाया जाने वाला सबसे प्रमुख त्योहार है | यह पर्व पूरे भारत मे मनाया जाता है छठ माता को समर्पित यह पर्व बहुत महत्वपूर्ण है |

महाशिवरात्री

mahashivratri

फाल्गुन कृष्ण पक्ष चतुर्दशी को महाशिवरात्रि का पर्व मनाया जाता है। महाशिवरात्री भगवान शिव को समर्पित प्रमुख पर्ब है इस दिन महिलाये और पुरुष दोनो लोग शांती के लिये व्रत रखते है | भगवान शिव की साधना के लिए यह दिन बहुत खास होता है | इस भगवान शिव और माता पार्वती का विवाह हुआ था तब से यह दिन महाशिवरात्री के रूप मे मनाया जाता है | इस साल 2024 मे महाशिवरात्री का व्रत 8 मार्च को रखा जायेगा |

Disclaimer-: Hindimesoch.in ब्लॉग मे प्रकाशित किसी भी पोस्ट अथवा चित्र का अधिकारिक दावा नही करता है | अगर इस ब्लॉग मे पोस्ट से सम्बंधित किसी भी लेखन या वीडियो पर आपका कॉपीराइट दिखता है तो हमसे सम्पर्क करें | उक्त सामग्री को पूर्ण रूप से हटा दिया जायेगा | कोई भी जानकारी अमल मे लाने के लिये संबंधित विशेषज्ञ से सलाह जरूर लें.